बाल विहाह किस प्रकार है समाज की सबसे बड़ी कुरीति

आज हम बात करने जा रहे हैं चाइल्ड मैरिज के ऊपर। जी हां दोस्तों चाइल्ड मैरिज हमारे देश की एक बहुत बड़ी समस्या है और सबसे खतरनाक समस्या भी है। दोस्तों चाइल्ड मैरिज एक बहुत बड़ा गुनाह माना जाता है लेकिन गांव में अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं जो कि इस को प्रोत्साहन देते हैं और यह घिनौना काम करते हैं जो कि बहुत ज्यादा गलत बात है। दोस्तों पुराने समय में लड़कियों की शादी 12 13 साल की उम्र में ही करवा दी जाती थी। जो कि बहुत ही ज्यादा गलत बात है उस समय लड़कियों के माता-पिता सोचते थे कि लड़कियां हमारे ऊपर बोझ हैं अगर हम 12 13 साल की उम्र में उनकी शादी करवा देंगे तो हमारे ऊपर से एक बोझ हट जाएगा और वह दूसरे घर चली जाएगी और उसका जीवन भी सुखी हो जाएगा पर ऐसा कुछ नहीं होता था लड़की से उसका बचपन छीन लिया जाता था। उसकी शादी करवा कर और उसे छोटी उम्र में ही दूसरे घर पर जाकर काम करना पड़ता था मेहनत करनी पड़ती थी झाड़ू पोछा करना पड़ता था जो कि बहुत ज्यादा गलत बात है।

दोस्तों चैट मैरिज आज के समय में एक बहुत बड़ा माना जाता है लेकिन पहले इस चीज को बंद करने वाला कोई नहीं था या पुराने समय में तो हर जगह पर स्थान दिया जाता था और लड़कियों की शादी करवा दी जाती थी और उनको दूसरे घर भेज दिया जाता था जहां पर किसी को नहीं जानती थी और वहां पर सिर्फ से काम करवाया जाता था नौकरानी की तरह किसी से प्यार मिलता था और नहीं करता था बच्चे उसका जीवन सबसे महत्वपूर्ण समय छीन लिया जाता था विवाह करवा कर और दोस्तों हमेशा उसे कहा जाता था कि छोटी उम्र से ही पल्लू मेरे जोगी सबसे गलत बात है। दोस्तों लड़कियों को हर समय पर घूमना पड़ता था जब से उनकी शादी हो जाती थी उनको पर लौट आने की तकलीफ का सामना करना पड़ता था। लेकिन दोस्तों जैसे हमारा देश आगे बढ़ रहा है वैसे-वैसे खत्म होते जा रहे हैं दोस्तों आज के समय में हमारी सरकार बना रखी है किसी लड़की के माता-पिता 18 साल से पहले उसकी शादी किसी से करवाते हैं तो उसके माता पिता को जेल हो सकती है। 18 साल की लड़की को नाबालिग माना जाता है होती है और लड़की की शादी करना है उसका बचपन में उसको अधिकार है और आगे बढ़ गया है कि 22 साल तक लड़कियों की शादी आराम से हो सकती है।

आज के समय मैं मॉडर्न हो रहे हैं इसलिए वह अपने बच्चों को खुश रखना चाहते हैं। दोस्तों आज के समय में लड़की भी समझदार है और वह अपने हक के लिए लड़ना जानती है। अगर उसके माता-पिता उसकी शादी जबरदस्ती करवाते हैं तो उसके पास बहुत सारे रास्ते में बचने के लिए वह पुलिस के पास जाकर पुलिस की सहायता ले सकती है और पुलिस को उसका पूरा साथ देगी और 18 साल की उम्र के बाद लड़की को यह आजादी है कि वह अपनी मर्जी से अपना जीवन साथी चुन सकती है और उसके घर वाले इस पर कोई दबाव नहीं डाल सकते लेकिन दोस्तों पहले के जमाने में ऐसा नहीं था। पहले के जमाने में उसके माता-पिता ही उसके विवाह करवाते थे और उसके माता-पिता की सभी बात लड़की को माननी पड़ती थी।

दोस्तों चाइल्ड मैरिज से लड़कों को तो कुछ ज्यादा तो नहीं पड़ता क्योंकि उनको अपने घर से दूर नहीं जाना पड़ता था। उस टाइम को इतने समझदार भी नहीं थे कि वह कुछ समझ सके कि उनके साथ क्या हो रहा है जो उनके कर लेते थे। लेकिन सबसे ज्यादा घर-परिवार छोड़कर 12 साल की उम्र में ही दूसरे घर जाना पड़ता था और वहां पर काम करना पड़ता था जो कि एक बहुत ही ज्यादा गलत बात है। दोस्तों आज के समय में चाइल्ड मैरिज एक बहुत बड़ा गुनाह है और चाइल्ड मैरिज अगर कोई करवाता है तो उस को कड़ी से कड़ी सजा हो सकती है और उसको कई साल की जेल भी हो सकती है जो कि एक बहुत ही अच्छी बात है चाइल्ड मैरिज करवाने वाले को सजा तो मिलनी चाहिए क्योंकि वह बच्चों से उनका बचपन छीन रहा है।

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *