सफल होने के लिए परिश्रम है बेहद महत्वपूर्ण

तो हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं परिश्रम के महत्व के बारे में। दोस्तों परिश्रम हमारे जीवन में एक बहुत ही बड़े पैमाने पर अहमियत रखता है। दोस्तों अगर एक व्यक्ति परिश्रम करता है तो वह अपने जीवन में बहुत कुछ हासिल कर सकता है लेकिन दोस्तों परिश्रम करना आसान नहीं होता उसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। दोस्तों अगर आपको जीवन में एक बड़ा आदमी बनना है तो आपको परिश्रम तो कर नहीं होगा। दोस्तों अगर आप परिश्रमी नहीं कर सकते तो आप जीवन में कुछ बड़ा भी हासिल नहीं कर सकते और दोस्तों अपने जीवन में कुछ बड़ा नहीं किया तो आपके जीवन का कोई अर्थ नहींसफलता की पहली पूंजी ही परिश्रम है परिश्रम करे बिना सफलता का स्वाद कभी नहीं रखा जा सकता। जिंदगी में आगे बढ़ना है सुख समृद्धि से रहना है तो आपको जीवन में परिश्रम तो करना ही होगा जो भी बहुत महत्वपूर्ण है हर एक व्यक्ति के लिए मनुष्य के साथ साथ भगवान ने जानवरों को भी परिश्रम करने का गुण दिया है।

दोस्तों सिर्फ मनुष्य ही नहीं जानवर भी बहुत परिश्रम करते हैं।।अपने जीवन को सुखी बनाने के लिए दोस्त जानवरों को तो मनुष्य से भी ज्यादा परिश्रम करना पड़ता है अपनी जिंदगी को एक अच्छी जिंदगी बनाने के लिएदोस्तों हमारी तरह पक्षियों को भी कड़ा परिश्रम करता है। उनको भी सुबह उठकर बाहर जाना पड़ता है खाना ढूंढने के लिए और पक्षी को बड़े होते ही उड़ना सीखना होता है ताकि वह अपना पालन पोषण खुद से कर सके और उस को तकलीफ ना हो किसी भी बात कि दोस्तों इसी तरहमनुष्य को भी कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। दोस्तों दुनिया के सभी जीव जंतुओं को कड़ा परिश्रम करना पड़ता है खाना ढूंढने के लिए और मनुष्य को भी कड़ा परिश्रम करना पड़ता है अपने जीवन में कुछ कर सके।

दोस्तों जरा मनुष्य को भी यही सिखाया जाता है बचपन से ही उसको कड़ा परिश्रम करना होगा चाहे वर्षम पढ़ाई के लिए करें या फिर बहुत परेशान के थ्रू पैसा कमाए क्योंकि अगर वह परिश्रम नहीं करेगा तो उसको कुछ भी अपने जीवन में हासिल नहीं होगा। दोस्तों परिश्रम के बलबूते पर ही मनुष्य ने दुनिया को अद्भुत चीजें दी है दोस्त इसके हम बहुत सारे एग्जांपल भी ले सकते हैं सबसे पहला एग्जांपल मैं आपको देना चाहूंगा श्री नरेंद्र मोदी जी का। दोस्तों श्री नरेंद्र मोदी जी दिल्ली 16 से 17 घंटे काम करते हैं और कभी छुट्टी भी नहीं लेते जो सोचिए इतना बड़ा आदमी जिसको किसी को छुट्टी देने के लिए जवाब नहीं देना पड़ता। वह तक परिश्रम करने से पीछे नहीं हटता तो हम क्यों परेशान ना करें दोस्तों परिश्रम करना बेहद ही जरूरी है अगर आपको अपना है तो दोस्तों परिश्रम करने के लिए हमें कोई फोर्स नहीं करता। यह हमें खुद से ही करना पड़ता है अपनी मर्जी से क्योंकि परिश्रम का फल बहुत ही मीठा होता है और परिश्रम करने से हमारे जीवन में खुशियां ही खुशियां आ जाती हैं।

दोस्तों परिश्रम बहुत महत्वपूर्ण है अगर हमें इस दुनिया में कुछ करके दिखाना है और एक बड़ा आदमी बनना है तो हमको वैष्णव करना ही होगा दोस्तों महात्मा गांधी जी ने इस देश को आजाद कराने के लिए बहुत ज्यादा परिश्रम किया बहुत सारे आंदोलन किए बहुत सारे योगदान किए उसी का नतीजा है कि आज हम अपने घर में बैठे हुए हैं। नहीं तो हम कुछ नहीं थे अगर महात्मा गांधी जी परिश्रम नहीं करते और हमारा देश आजाद नहीं करवाते तो दोस्तों परिश्रम करना भोजन नगर में एक बड़ा आदमी बनना है तो दोस्तों पर स्पीच और दूसरों को भी मोटिवेट कीजिए कि वह परिश्रम करें और अपने जीवन में कुछ बड़ा काम कर सके कि दोस्तों परिश्रम ही सफलता का राज है।

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *